Connect with us

delhi News

दिल्ली पुलिस कमिश्नर संजय अरोड़ा टिकरी बॉर्डर पर सुरक्षा इंतजार लेने पहुंचे

Published

on

delhi News

दिल्ली के बुराड़ी इलाके में बिल्डर के दफ्तर पर महिला की संदिग्ध अवस्था में मौत

Published

on

By

उत्तर दिल्ली के बुराड़ी इलाके में महिला के संदर्भ परिस्थितियों में हुई मौत बुराड़ी भगत कॉलोनी 41फूटा रोड पर बने के के बिल्डर के दफ्तर पर महिला की संदिग्ध मौत महिला की मौत के बाद पति मौका ए वारदात से हुआ फरार. परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल पुरानी थाना पुलिस मौके पर मौजूद जांच लगातार जारी हत्या की आशंका पुलिस अलग-अलग पहलुओं से कर रही है पूरे मामले की जांच

Continue Reading

delhi News

राजधानी दिल्ली के शाहबाद डेरी इलाके में बीती रात झुग्गियों में लगी भीषण आग .

Published

on

By

राजधानी दिल्ली के शाहबाद डेरी इलाके में बीती रात झुग्गियों में लगी भीषण आग .हादसे में करीब डेढ़ सौ झुग्गियां जलकर हुई राख .सैकड़ो लोग हुए बेघर. देर रात आग लगने से पूरे इलाके में मचा हड़कंपम .दमकल विभाग को दी गई जानकारी दमकल की 14 गाड़ियां मौके पर पहुंची आग पर पाया गया कबू.कॉलिंग का काम अभी भी जारी. आग लगने की वजह का अभी तक पुख्ता तौर पर नहीं हुआ खुलासा. किसी के हताहत होने की भी नहीं खबर.

राजधानी दिल्ली में इन दिनों आग लगने की खबर लोगों को डरा रही है अभी लोग अलीपुर इलाके में एक पेंट के गोदाम में लगी आग की खबरों को अपने दिमाग से निकल ही नहीं पाए थे कि बीती रात दिल्ली के शाहबाद डेरी एरिया में बीती रात झुगियो में भीषण आग लगी . जिससे पूरे इलाके में हड़कंप मच गया. आनंद फलन में दमकल विभाग को आग लगने की जानकारी दी गई.दमकल की 14 गाड़ियों ने आग पर काबू पाया अभी कूलिंग ऑपरेशन जारी है. शुरुआती जानकारी के मुताबिक रात करीब 10:30 बजे अचानक झुग्गी में आग लगी और देखते ही देखते आगे विकराल रूप ले लिया शाहबाद डेरी इलाके के जिस जगह पर आग लगी वहां करीब डेढ़ सौ झूकियां बनी हुई है और सेकंड और लोग यहां रहते हैं आगे इतनी तेजी से पहले की लोगों को अपना सामान तक निकलने का मौका नहीं मिला जो व्यक्ति जितना समान निकल सका उसने सामान निकाल और खुद को जान बचाते हुए वहां से दूर भाग निकला इस अग्निकांड में 150 झुगियां जल कर रख हो चुकी है .सैंकड़ो परिवार बेघर हुए है इस आग के कारण आग कैसे लगी इसके कारणों की जांच बाद में होगी लेकिन आशंका है शॉर्ट सर्किट से आग लगी होगी .आग कितनी विकराल है कितने लोगो का आशियाना उजड़ गया आग कैसे लगी कारणों का पता नही चल सका है. पता नहीं की इस हादसे में किसी के हाथ होने की कोई खबर सामने नहीं आई और जितने भी लोग बाहर रह रहे थे वह समय रहते अपनी योगियों से बाहर निकलकर वहां से सुरक्षित दूर चले गए.

फिलहाल शुरुआती जानकारी के मुताबिक रात करीब 10, 30 पर आग लगी घटना में किसी के घायल होने की खबर नही है कुछ देर बाद एसडीएम और पुलिस के अधिकारी घटना और नुकसान का सही आकलन करेगे. और तभी आग लगने के कारणों का भी पुख्ता तौर पर पता चल सकेगा.

Continue Reading

delhi News

बाहरी दिल्ली के अलीपुर अग्निकांड

Published

on

By

Alipur incident
Alipur agnikand

Alipur incident

Alipur agnikand

बाहरी दिल्ली के अलीपुर में 15 जनवरी को एक फैक्टरी में लगी भीषण आग में मारे गए 11 लोगों में से आठ की पहचान उनके परिवार के सदस्यों ने कर ली है. जरूरत पड़ने पर अज्ञात शवों के लिए डीएनए जांच कराई जा सकती है. दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस ने यह पता लगाने के लिए जांच शुरू कर दी है कि घटना किस कारण से हुई और क्या पेंट फैक्टरी अवैध रूप से संचालित की जा रही थी.

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) ने एक बयान में कहा कि जिस इमारत में आग लगी, उसका इस्तेमाल अवैध रूप से रासायनिक पेंट मिश्रित करने के लिए किया जा रहा था. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस घटना में फैक्टरी के मालिक अशोक कुमार जैन और उनके 10 कर्मचारी मारे गए. दिल्ली पुलिस के अधिकारी के मुताबिक फैक्ट्री ओम सन्स पेंट 2017 से काम कर रही है.

अभी तक इनकी हुई पहचान

अलीपुर अग्निकांड में मारे गए आठ लोगों की पहचान अशोक कुमार जैन (62), राम सूरत सिंह (44), विशाल गौंड (19), अनिल ठाकुर (46), पंकज कुमार (29), शुभम (19), मीरा (44) और बृजकिशोर (19) के तौर पर हुई. दिल्ली पुलिस के अधिकारी ने कहा, ‘‘यह पता चला है कि जब काम चल रहा होता था तो मालिक फैक्टरी को अंदर से बंद कर देता था.’’ ऐसी आशंका है कि फैक्टरी का गेट बंद था और आग लगने के बाद कर्मचारी इमारत से बाहर नहीं निकल सके.

अज्ञात शवों का होगा DNA Test

दिल्ली पुलिस के मुताबिक फॉरेंसिक विशेषज्ञों ने घटनास्थल से नमूने एकत्र किए हैं. उन्होंने कहा कि ‘‘प्रथम दृष्टया, आशंका है कि आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी और उस क्षेत्र में फैल गई जहां रसायन रखे हुए थे, जिससे कई विस्फोट हुए.’’ एक अन्य अधिकारी ने कहा कि कुछ पीड़ितों की पहचान उनके कपड़ों और अन्य वस्तुओं के आधार पर की गई. उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो अज्ञात शवों का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा.

Continue Reading

Trending